बोर्ड एग्जाम का नहीं मिला एडमिट कार्ड, जबलपुर कलेक्टर ने छात्रा को एक घंटे में दिलाई परमिशन

हरि विश्वकर्मा, भोपाल सोमवार से माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा संचालित कक्षा 10 वीं की परीक्षा शुरू हुई। लेकिन जबलपुर जिले के सिहोरा के शासकीय वीडी सेकंडरी स्कूल की कक्षा 10 वीं की छात्रा जीनत निशा का एडमिट कार्ड बोर्ड भोपाल से नहीं आया। लिहाजा, छात्रा जीनत और उसके परिजन चिंतित हो उठे, लेकिन कलेक्टर दीपक सक्सेना ने परीक्षा शुरू होने तक लगभग एक घंटे में ही भोपाल से विशेष अनुमति दिलाकर छात्रा को परीक्षा में सम्मिलित करा दिया, जिससे छात्रा जीनत का एक साल खराब होने से बच गया।

दरअसल, सिहोरा के वार्ड एक निवासी मोहम्मद अकबर की बेटी जीनत निशा वीपी सेकंडरी स्कूल में कक्षा 10 वीं में अध्ययनरत है। उसने 10 वीं की परीक्षा में शामिल होने के लिए स्कूल के माध्यम से फॉर्म भरा था। सोमवार 4 फरवरी को हिंदी का पहला पेपर था, लेकिन जीनत का एडमिट कार्ड माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल से नहीं आया, जिससे छात्रा जीनत और उसके परिजन चिंतित हो उठे, उन्हें लगा कि अब जीनत परीक्षा में शामिल नहीं हो पाएगी और उसका एक साल खराब हो जाएगा, लेकिन उन्होंने परीक्षा शुरू होने तक एडमिट कार्ड के लिए प्रयास जारी रखा। उन्होंने कुम्ही सतधारा के पत्रकार रमेश बर्मन को समस्या से अवगत कराया। बर्मन ने सोमवार को परीक्षा शुरू होने से पहले करीब 7.30 बजे कलेक्टर दीपक सक्सेना को छात्रा जीनत की समस्या से अवगत कराया। कलेक्टर सक्सेना ने इस संबन्ध में तत्काल भोपाल अधिकारियों से बात की और विशेष अनुमति से छात्रा जीनत को परीक्षा में सम्मिलित करा दिया। कलेक्टर श्री सक्सेना के प्रयासों से छात्रा जीनत का एक साल खराब होने से बच गया।

कलेक्टर ने खुद की रिस्क पर दिलाई परमिशन

इस संबंध में जबलपुर कलेक्टर दीपक सक्सेना ने बताया, मुझे जैसे ही जानकारी मिली कि एडमिट कार्ड जारी नहीं होने से सिहोरा की एक छात्रा परीक्षा देने से वंचित हो जाएगी। मैंने तत्काल माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल के अधिकारियों से बात की तो बोर्ड के अधिकारियों ने इस मामले को फर्जी बता दिया। इसके बाद मैंने स्कूल के प्राचार्य, जिला शिक्षा अधिकारी और सूचना देने वाले बर्मन से पुष्टि की तो मामला सही था, फिर मैंने बोर्ड के अधिकारियों को छात्रा को परीक्षा के लिए विशेष अनुमति देने के लिए मेल किया। मेरी रिस्क पर छात्रा को परीक्षा में शामिल होने की विशेष अनुमति मिली।

One thought on “बोर्ड एग्जाम का नहीं मिला एडमिट कार्ड, जबलपुर कलेक्टर ने छात्रा को एक घंटे में दिलाई परमिशन

  1. हृदय से शुभकामनाएं एवं बधाई ईश्वर इस राह पर आपको तरक्की और शोहरत द

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *